"SURVIDHYA"
A Religious Singing Competetion

जिनवाणी चैनल की प्रस्तुति सुर विद्या संगीत मय साधना को समर्पित ऐसा कार्यक्रम है जिसमें भक्ति गीतों के माध्यम से स्वर साधक जहां अपनी भक्ति प्रभु चरणों में समर्पित करेंगे तो वहीं वर्तमान के वर्धमान आचार्य श्री विद्या सागर जी महाराज के गुणगान का सौभाग्य भी उन्हें प्राप्त होगा, धर्म प्रभावना के क्षेत्र में जिनवाणी चैनल इस कार्यक्रम के माध्यम से देश के स्वर साधकों को एक विश्वस्तरीय मंच पर लाकर उनकी भक्ति को एक नई दिशा देना चाहता है |

संगीत साधना भारतीय संस्कृति का गौरव है, इस विधा में पारंगत होने के लिए साधक को कठिन परिश्रम करना पड़ता है, प्रभु भक्ति के लिए समर्पित भावों को यदि सुर और लय के साथ प्रस्तुत किया जाए तो साधक की भक्ति की शक्ति के परिणाम सुखद होते है, धर्म प्रभावना के लिए जिनवाणी चैनल द्वारा आयोजित सुर विद्या कार्यक्रम विविधिताओं से भरा हुआ है जिसमें प्रभु भक्ति के साथ गुरू भक्ति के अवसर भी स्वर साधकों को मिलेंगे |

धर्म के प्रति निष्ठा और स्वर साधना के प्रति समर्पित कार्यक्रम सुर विद्या एक ऐसा मंच है जहां देश के कोने कोने से आये स्वर साधकों की भावभीनी संगीय मय भक्ति गीतों की प्रस्तुति अद्भुत होगी, जिनवाणी चैनल का यह प्रयास रहेगा कि सुर विद्या का मंच देश और समाज के सामने प्रतिभा सम्पन्न कलाकारों को प्रस्तुत करके उनके जीवन को एक नई दिशा दे|

संत समाज का दर्पण होते हैं, अपने आचरण और व्यवहार से समाज को धर्म पथ पर चलने की प्रेरणा देने वाले संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्या सागर जी महाराज को समर्पित जिनवाणी चैनल द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम सुर विद्या भक्ति गीतों की सुरमयी प्रस्तुति का ऐसा अनूठा कार्यक्रम होगा जो समाज में छिपी प्रतिभाओं के लिए गुरू के आशीर्वाद का पूरक होगा |


For more...